NEET JEE MAIN : नीट यूजी एवं जेईई मेन परीक्षा में सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को अलग से बनेगी मेरिट लिस्ट.

सरकार ने नीट यूजी एवं जेईई मेन जैसे एंट्रेंस एग्जाम परीक्षा को लेकर बड़ा फैसला लिया है। अब मेडिकल और इंजीनियरिंग के एडमिशन में सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए अलग से मेरिट लिस्ट बनेगी। मेडिकल व इंजीनियरिंग संस्थानों में सरकारी स्कूल के छात्रों की संख्या बढ़ाने के लिए उनका अलग से कोटा तय किया जाएगा। आरक्षण की वर्तमान व्यवस्था में ही कोटा हर कैटेगरी में होरिजेंटल तय होगा।

मेडिकल और इंजीनियरिंग की चयन परीक्षा में सरकारी स्कूलों के बच्चों का प्रतिशत कम रहता है। इसके मद्देनजर अब मध्यप्रदेश में नये नियम बना रहे हैं, जिसमें सरकारी स्कूल के बच्चों के लिये अलग से मेरिट लिस्ट बनाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही मेडिकल और इंजीनियरिंग की पढ़ाई अब मध्य प्रदेश में हिंदी में शुरू कर दी गई है। इससे हमारे गरीब किसान के बेटा-बेटी भी पढ़ाई कर सकेंगे।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरी के लिए सवा लाख भर्तियां की जा रही है। युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उनके स्व-रोजगार के लिये अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं।

यह भी पढ़े   NEET : MBBS सीट मांग रही इस लड़की की चालाकी पर कोर्ट भी हैरान ठोका भारी जुर्माना सुनाई खरी-खरी