PNB FD Rates : सरकारी बैंक दे रहा 8% से ज्यादा ब्याज, ग्राहकों के पास है कमाई का मौका.

भारत की दूसरी सबसे बड़ी सरकारी बैंक पंजाब नेशनल बैंक ने ग्राहकों को कमाई का बड़ा मौका दिया है. बैंक ने कुछ चुनिंदा अवधि पर फिक्स डिपॉजिट करने पर ब्याज दरों में काफी बढ़ोतरी की है. नई ब्याज दरें 2 करोड़ से कम की राशि जमा करने पर लागू होंगी बैंक की वेबसाइट के अनुसार नई दरें 20 फरवरी 2023 से प्रभावी होगी पंजाब नेशनल बैंक में चुनिंदा एफडी की दरों में 30 बेसिक प्वाइंट तक की बढ़ोतरी की है. यानी अब कम पैसे फिक्स डिपॉजिट करने पर भी ग्राहकों को ज्यादा ब्याज मिलेगा. नवीनतम वृद्धि के बाद पीएनबी 7 दिनों से 10 वर्षों में 3.5% से 7.25% की ब्याज दर देता है.

271 दिनों और 1 वर्ष से कम के बीच मैच्योर होने वाली जमा राशि के लिए बैंक ने रेगुलर नागरिकों के लिए ब्याज दर 30 बीपीएस बढ़ाकर 5.50% से 5.80% कर दी है. एक वर्ष से 665 दिनों के बीच परिपक्व होने वाली एफडी को 5 बीपीएस बढ़ाकर 6.80% कर दिया जाएगा. 667 दिनों और 2 साल के बीच मैच्योर होने वाली एफडी पर 6.80% की ब्याज दर मिलेगी.

पीएनबी की नवीनतम एफडी दरें 20 फरवरी 2023 से प्रभावी

7 से 14 दिन – 3.50%
15 से 29 दिन – 3.50%
30 से 45 दिन – 3.5%
46 से 90 दिन – 4.50%
91 से 179 दिन – 4.50%
180 दिन से 270 दिन – 5.50%
271 दिन से 1 वर्ष से कम – 5.80%
1 वर्ष – 6.80%
1 वर्ष से अधिक से 665 दिन तक – 6.80%
666 दिन – 7.25%
667 दिन से 2 साल – 6.80%
2 वर्ष से अधिक और 3 वर्ष तक – 7%
3 वर्ष से अधिक और 5 वर्ष तक – 6.50%
5 वर्ष से अधिक और 10 वर्ष तक – 6.50%

यह भी पढ़े   PNB Interest Rates 2023 : पंजाब नेशनल बैंक ने बढ़ाया एफडी ब्याज रेट, यहाँ देखें नई रेट लिस्ट.

 

वरिष्ठ नागरिकों के लिए पीएनबी एफडी ब्याज दर

पीएनबी वरिष्ठ नागरिकों को 7 दिनों से लेकर 10 साल तक की जमा राशि पर 4% से 7.75% तक की ब्याज दर की पेशकश करेगा

अति वरिष्ठ नागरिकों के लिए पीएनबी एफडी ब्याज दर

पीएनबी सुपर वरिष्ठ नागरिकों को 7 दिनों से 10 साल तक की जमा राशि पर 4.3% से 8.05% तक की ब्याज दर की पेशकश करेगा. अति वरिष्ठ नागरिक 80 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोग हैं.

इन बैंको ने भी बढ़ाई ब्याज दर

भारतीय स्टेट बैंक (SBI), एक्सिस बैंक, कोटक महिंद्रा, इंडसइंड बैंक सहित कई बैंकों ने भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 8 फरवरी को रेपो दरों में 25 आधार अंकों की बढ़ोतरी के तुरंत बाद फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) की ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है.