Delhi Shop Auction : दिल्ली के सरोजनी नगर मार्केट में दुकान खरीदने का बड़ा मौका, 600 दुकानों की होगी नीलामी.

अगर आप भी दिल्ली के सरोजनी नगर या सरोजनी बाजार जैसे इलाकों में सरकारी दुकान खरीदना चाहते हैं तो आपके लिए बड़ा मौका हो सकता है एवं विशेष इंडिया लिमिटेड में सरोजनी नगर अपने अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग की लगभग 600 दुकानों और ऑफिस को बेचने का बड़ा फैसला लिया है एनबीसीसी थोक दामों पर दिल्ली की मेन मार्केट सरोजनी नगर में दुकान की बिक्री करने वाली है ऐसे में अगर आप भी दुकान खरीदने की सोच रहे हैं तो इससे तो आपके लिए इससे बेहतर मौका नहीं हो सकता है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कंपनी कुछ इकाइयों के लिए खरीदार खोज रहे हैं एनबीसीसी लिमिटेड में सरोजनी नगर में अपनी बिल्डिंग की दुकानों का ऑफिस को बेचने का फैसला लिया है. पब्लिक सेक्टर की कंस्ट्रक्शन कंपनी जनरल पूल आवासीय आवास (जीपीआरए) जो सरोजनी नगर में रिडेवलपमेंट का काम कर रही है जल्द ही सरोजिनी नगर में दुकानों के लिए थोक नीलामी करने की योजना बना रही है. कंपनी ने कहा कि पहली बार, NBCC ने थोक नीलामी करने का फैसला किया है.

कमर्शियल रियल स्टेट मॉडल के तहत इन्वेस्टर ऐसी जगह पर संपत्ति खरीदते हैं जहां व्यवसाय के जरिए वो लंबे समय तक टिक सकें. एनबीसीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक पवन कुमार गुप्ता ने कहा कि खरीदार के पास इस चीज का का का बेनिफिट होगा कि वो यहां कौन का बिजनेस कर सकता है. क्योंकि एक ही फ्लोर और आसपास में कई अठारह की दुकानें हैं इससे खरीदार को बढ़िया बिजनेस आईडिया मिल सकता है.

खरीदार ये डिसाइड करने में सक्षम होगा कि हाई-एंड स्टोर, सैलून, रेस्तरां, किराना स्टोर और अन्य प्रकार के ब्रांड समान स्टोर के साथ स्थित हैं. गुप्ता के मुताबिक, इस साल नवंबर तक ये प्रोजेक्ट कम्पलीट हो जायेगा.

यह भी पढ़े   SBI बैंक ने करोड़ों ग्राहकों को दिया झटका ! आज से महंगा किया लोन, जानिए कितनी बढ़ जाएगी लोन की EMI.

इस प्रोजेक्ट में 329 दुकानें शामिल हैं, जिनकी कीमत 56 लाख रुपये और 2.63 करोड़ रुपये के बीच है. वहीं, 324 ऑफिस स्पेस है जिनकी कीमत 80 लाख रुपये से लेकर 3.28 करोड़ रुपये तक है. एनबीसीसी के अनुसार, पिछले साल जुलाई में लॉन्च होने के बाद से अब तक 31 दुकानें कुल 47.81 करोड़ रुपये में बिक चुकी हैं. बाकी बची दुकानों और दफ्तरों की जल्द ही एक साथ नीलामी की जाएगी.

NBCC के मुताबिक, इस प्रोजेक्ट में लगभग 1,393 करोड़ रुपये आने की उम्मीद है. इसके बाद मिली रकम से बाकि बिल्डिंग्स का रिडेवलपमेंट किया जाएगा.

NBCC के कमर्शियल डायरेक्टर केपी महादेव स्वामी ने कहा कि सरोजनी नगर में इमारतें आठ मंजिल की होंगी और इसमें चार बेसमेंट लेवल शामिल होंगे.

अब तक, बेसमेंट स्तर, भूतल और तीन मंजिलों का निर्माण किया जा चुका है, साइट पर काम जुलाई 2022 में शुरू हो गया है. सरोजिनी नगर मेट्रो स्टेशन और सरोजनी नगर मार्केट के बगल में स्थित साइट के साथ, कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. डाउनटाउन प्रोजेक्ट सरोजिनी नगर जीपीआरए कॉलोनी के बड़े रिडेवलपमेंट के 14 पैकेजों में से एक है. इसके अलावा आवासीय टावरों के दो अन्य पैकेज पर काम चल रहा है.