GST Bill Verify : आसानी से कर सकते हैं अपने जीएसटी बिल को वेरीफाई, ये है स्टेप-बाय स्टेप प्रोसेस.

 GST Bill Verify : टैक्स सिस्टम को आसान बनाने के लिए सरकार ने वस्तु एवं सेवा टैक्स सिस्टम(GST) को लागू किया है। जीएसटी के जरिये कई लोग टैक्स चोरी कर रहे हैं। जीएसटी इनवॉयस के नाम पर हो रहे धोखाधड़ी को रोकने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। कई बार ग्राहक जब जीएस बिल अपलोड करते हैं तो जब उन्हें पता चलता है कि उनके पास फेक जीएसटी बिल है।

ऐसे में अब ग्राहक आसानी से चेक कर सकते हैं कि उनके पास जो जीएसटी बिल है वो असली है या फिर नकली। आइए, हम आपको बताते हैं कि इसका पूरा प्रोसेस क्या है।

जीएसटी बिल की जांच कैसे करें
आपको सबसे पहले जीएसटी की अधिकारिक वेबसाइट () पर जाना है।
अब आपको ‘टैक्सपेयर सर्च’ के ऑप्शन को सेलेक्ट करना है।
इसके बाद ‘जीएसटीआईएन द्वारा खोजें’ पर क्लिक करें।
स्क्रीन पर शो हो रहे सर्च बॉक्स पर जीएसटीआईएन को चेक करना होगा। जीएसटीआईएन नंबर जीएसटी इनवॉइस पर होता है।
यहां आपको वेबसाइट पर पूरी डिटेल्स दिखेगी।
इस तरीके से भी जीएसटी बिल को करें चेक
फेक जीएसटी बिल को चेक करना काफी आसान है। दुकानदार या डीलर जब जीएसटी बिल देते हैं तो उस पर जीएसटीआईएन नंबर के जरिये भी चेक कर सकते हैं कि यह बिल असली है या नकली। दरअसल, जीएसटीआईएन नंबर के पहले दो डिजिट राज्य का कोड होता है और उसके बाद के 10 नंबर दुकानदार या डीलर का पैन नंबर होता है।
वहीं, 13वीं संख्या पैन धारक की इकाई होती है और 14वां अंक ‘Z’ और 15वां ‘चेकसम अंक’ होता है। इस फॉर्मेट के जरिये आप आसानी से चेक कर सकते हैं कि आपके पास असली जीएसटी बिल है या नकली जीएसटी बिल।
जीएसटी बिल क्या होता है
जीएसटी बिल को जीएसटी चालान भी कहा जाता है। यह विक्रेता द्वारा वस्तुओं और सर्विस की खरीदार का ब्यौरा रखने के लिए बनाया गया है। यह एक डॉक्यूमेंट है। इसमें नाम, डिटेल्स, खरीदी गई वस्तुओं, तारीख,डिस्काउंट आदि शामिल होती है।