Investors Of Reliance Hdfc : रिलायंस HDFC और ICICI Bank के निवेशक हुए मालामाल, टीसीएस-ITC ने दिया जोर का झटका.

Investors Of Reliance Hdfc : रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपने निवेशकों को एक बार फिर खुश होने का मौका दिया है। दरअसल, पिछले हफ्ते सेंसेक्स में शामिल शीर्ष 10 कंपनियों के मार्केट कैप में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी रिलायंस इंडस्ट्रीज में देखने को मिली। इसके चलते आरआईएल के शेयर में निवेश करने वाले निवेशकों को 26,014 करोड़ रुपये की कमाई हो गई। आपको बता दें कि देश की शीर्ष 10 मूल्यवान कंपनियों में से चार का सम्मिलित रूप से बाजार मूल्यांकन पिछले सप्ताह 65,671.35 करोड़ रुपये बढ़ गया। इनमें रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे अधिक लाभ में रही।
इन चार कंपनियों ने निवेशकों को दिया फायदा
बीएसई के मानक सूचकांक सेंसेक्स में पिछले सप्ताह 175.31 अंक यानी 0.26 प्रतिशत का उछाल दर्ज किया गया। इस तेजी का लाभ रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और भारती एयरटेल को मिला। दूसरी तरफ शीर्ष 10 कंपनियों में शामिल टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), इंफोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक और बजाज फाइनेंस को अपने बाजार मूल्यांकन में गिरावट का सामना करना पड़ा। रिलायंस इंडस्ट्रीज का बीते सप्ताह मूल्यांकन 26,014.36 करोड़ रुपये बढ़कर 16,19,907.39 करोड़ रुपये हो गया। इस तरह इसने मूल्यांकन में सर्वाधिक बढ़ोतरी दर्ज की गई। इस दौरान एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 20,490.9 करोड़ रुपये बढ़कर 11,62,706.71 करोड़ रुपये हो गया। भारती एयरटेल का पूंजीकरण 14,135.21 करोड़ रुपये बढ़कर 5,46,720.84 करोड़ रुपये हो गया।
इन कंपनियों ने निवेशकों को कराया नुकसान
वहीं आईसीआईसीआई का पूंजीकरण 5,030.88 करोड़ रुपये बढ़कर 6,51,285.29 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। हालांकि, टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 16,484.03 करोड़ रुपये घटकर 12,65,153.60 करोड़ रुपये हो गया। बजाज फाइनेंस का मूल्यांकन 12,202.87 करोड़ रुपये गिरकर 4,33,966.53 करोड़ रुपये रहा। हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार मूल्यांकन 3,406.91 करोड़ रुपये गिरकर 5,90,910.45 करोड़ रुपये और भारतीय स्टेट बैंक का 2,543.51 करोड़ रुपये गिरावट के साथ 5,00,046.01 करोड़ रुपये हो गया। आईटीसी का बाजार मूल्यांकन 1,808.36 करोड़ रुपये घटकर 5,46,000.07 करोड़ रुपये रह गया,
 जबकि इंफोसिस का बाजार मूल्यांकन 290.53 करोड़ रुपये घटकर 5,96,391.22 करोड़ रुपये रह गया। इसके साथ ही रिलायंस इंडस्ट्रीज ने देश की सबसे मूल्यवान कंपनी का तमगा बरकरार रखा है। इसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, इन्फोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, भारती एयरटेल, आईटीसी, भारतीय स्टेट बैंक और बजाज फाइनेंस का स्थान रहा।