IOC Raises Panipat Refinery : IOC ने पानीपत रिफाइनरी की विस्तार लागत 10% बढ़ाई डेडलाइन भी एक साल बढ़ी.

IOC Raises Panipat Refinery : पब्लिक सेक्टर की पेट्रोलियम कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने पानीपत रिफाइनरी के विस्तार की लागत का अनुमान बढ़ा दिया है। कंपनी ने इसे 10 फीसदी बढ़ाकर 36,225 करोड़ रुपये करने का फैसला किया है। इसके साथ ही प्रोजेक्ट पूरा होने की टाइमलाइन भी एक साल बढ़ाकर दिसंबर 2025 कर दी गई है। IOC हरियाणा के पानीपत में स्थित इस रिफाइनरी की सालाना क्षमता 1.5 करोड़ टन से बढ़ाकर 2.5 करोड़ टन तक करने की योजना पर काम कर रही है।
कंपनी का बयान

IOC ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा कि उसके बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने ‘पानीपत रिफाइनरी की क्षमता विस्तार के लिए परियोजना लागत को 32,946 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 36,225 करोड़ रुपये कर दिया गया है। वहीं, परियोजना के पूरा होने का कार्यक्रम सितंबर 2024 से बढ़ाकर दिसंबर 2025 तक करने को मंजूरी दे दी है।’ कच्चे तेल को पेट्रोल, डीजल और एटीएफ जैसे फ्यूल में बदलने की क्षमता का विस्तार करने के अलावा IOC एक पॉलीप्रोपीलिन यूनिट और एक कैटेलिटिक डीवैक्सिंग यूनिट भी लगा रही है।

पॉलीप्रोपपीलिन का यहां होगा इस्तेमाल

पॉलीप्रोपपीलिन का इस्तेमाल ऑटोमोटिव इंडस्ट्री और टेक्सटाइल इंडस्ट्री सहित कई उद्योगों के लिए पैकेजिंग और प्लास्टिक पार्ट्स बनाने में किया जाता है। वहीं कैटेलिटिक डीवैक्सिंग का उपयोग बेस ऑयल उत्पादन में किया जाता है।

आईओसी के पास देश की लगभग दो दर्जन रिफाइनरियों में से नौ का मालिकाना हक है। इसकी कुल शोधन क्षमता 7.01 करोड़ टन प्रति वर्ष है। इसकी रिफाइनिंग कैपिसिटी को वर्ष 2026 तक बढ़ाकर 8.79 करोड़ टन