JPMorgan Chase & Co : इस ग्लोबल इंडेक्स में शामिल होंगे भारत के सरकारी बॉन्ड डेट मार्केट में बढ़ेगा अरबों का विदेशी निवेश.

JPMorgan Chase & Co : अपने बेंचमार्क एमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में भारतीय सरकारी बॉन्ड को शामिल करेगी। यह कदम भारत के डेट मार्केट में अरबों डॉलर का विदेशी निवेश बढ़ा सकता है। ब्लूमबर्ग के मुताबिक, JPMorgan Chase & Co. 28 जून, 2024 से शुरू होने वाले जेपी मॉर्गन गवर्मेंट बॉन्ड इंडेक्स-एमर्जिंग मार्केट्स में सिक्योरिटीज को एड करेगा। गुरुवार 21 सितंबर को जारी हुए एक बयान के अनुसार, भारत का सूचकांक पर अधिकतम 10% वेट होगा।
 फर्म की इंडेक्स रिसर्च की ग्लोबल हेड ग्लोरिया किम के नेतृत्व वाली टीम ने एक बयान में कहा कि भारत सरकार ने 2020 में FAR कार्यक्रम और विदेशी पोर्टफोलियो निवेश में सहायता के लिए पर्याप्त बाजार सुधारों की शुरूआत की थी। भारत सरकार के इस कदम के बाद यह इंडेक्स इनक्लूजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सर्वे में शामिल लगभग तीन-चौथाई बेंचमार्क निवेशक भारत को इंडेक्स में शामिल करने के पक्ष में थे।

भारत के इस प्रमुख वैश्विक इंडेक्स में शामिल होने से वैश्विक निवेशकों को भारतीय अर्थव्यवस्था तक अधिक पहुंच मिलेगी, जो इस क्षेत्र में सबसे अधिक रिटर्न प्रदान करती है। HSBC Holdings Plc के अनुसार, यह इन्क्लूजन भारत में 30 अरब डॉलर तक के इनफ्लो को प्रेरित कर सकता है। एक अन्य बड़ी इंडेक्स प्रोवाइडर FTSE Russell भी अपने एमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में भारतीय बॉन्ड्स को शामिल करने के लिए नजर रखे हुए है।

टैक्स पॉलिसीज में बदलाव से आसान होगी डगर

भारत में अधिकारी कर नीतियों में बदलाव करने में काफी हद तक समझौता नहीं कर रहे हैं। अगर ऐसा किया जाता है तो इससे सिक्योरिटीज को वैश्विक सूचकांकों में जोड़ना आसान हो जाएगा। मार्च 2023 में जेपी मॉर्गन ने कहा था कि भारत के सूचकांक-योग्य, हाई यील्ड वाले सरकारी बॉन्डस को एमर्जिंग मार्केट इंडेक्स में जोड़ने के लिए समर्थन उसके सर्वेक्षण में 60% तक बढ़ गया है, जो पिछले वर्ष 50% था। क्लियरिंग कॉर्प ऑफ इंडिया के आंकड़ों के अनुसार, इन्क्लूजन की उम्मीद में विदेशी निवेशकों ने ऐसे बॉन्ड्स में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर लगभग 12 अरब डॉलर कर दी है। साल 2022 के अंत में यह हिस्सेदारी 7.4 अरब डॉलर थी।