Man Copies 5 Habbits Of Rich people : अमीरों की 5 आदतों की नकल करके करोड़पति बन गया ये शख्स आज बन चुका है अरबपति खुद चलकर आता बिजनेस.

Man Copies 5 Habbits Of Rich people : जब हम बड़े हो रहे होते हैं, पढ़ाई और नौकरी के लिए घर से निकलते हुए सपने देखते हैं कि एक दिन करोड़पति बनकर घर लौटेंगे. इसी तरह का सपना अमेरिका के अटलांटा का अपना घर छोड़कर न्यूयॉर्क जाते हुए 22 साल के एक लड़के ने देखा था. उसके पास न कोई ऐसा कनेक्शन था जो पैसे कमाने में उसकी मदद कर पाता, नही उसके पास कोई ऐसा छुपा खजाना था जिससे उसे पैसे कमाने में मदद मिल पाती.

जब हम बड़े हो रहे होते हैं, पढ़ाई और नौकरी के लिए घर से निकलते हुए सपने देखते हैं कि एक दिन करोड़पति बनकर घर लौटेंगे. इसी तरह का सपना अमेरिका के अटलांटा का अपना घर छोड़कर न्यूयॉर्क जाते हुए 22 साल के एक लड़के ने देखा था. उसके पास न कोई ऐसा कनेक्शन था जो पैसे कमाने में उसकी मदद कर पाता, नही उसके पास कोई ऐसा छुपा खजाना था जिससे उसे पैसे कमाने में मदद मिल पाती.

आर्टिकल में एलन ने लिखा है कि अमीर बनने के लिए उन्होंने अपने बचपन के बास्केटबॉल कोचेस से प्रेरणा ली, दोनों के पास अलग-अलग बिजनेस थे. आज के टाइम पर एलन के पास करीब 14 मिलियन डॉलर यानी करीब 116 करोड़ की संपत्ति है. एलन ने बताया है कि अपना पहला मिलियन कमाने के लिए उन्होंने अमीर लोगों की कौन-कौन सी आदतें अपनाईं.

वेल्थ के लिए सूट और टाई की ज़रूरत नहीं होती
एलन लिखते हैं उन्होंने अपने कोचेस को ट्रैक सूट के अलावा कभी कुछ पहने नहीं देखा. वो अपने खुद के बॉस थे तो जो मन करता था पहनते थे. वो लिखते हैं, “मेरे कोच की आज़ादख्याली और जिंदगी को लेकर ऑथेंटिक अप्रोच ने मुझे एक ब्लू प्रिंट दिया. मैं इस पर अपना समय और ऊर्जा नहीं लगाता कि कोई चीज़ बाहर से कैसे दिख रही है, मैं काम के बाद अपनी क्वालिटी ऑफ लाइफ पर इनवेस्ट करता हूं. मुझे अभी भी टाई बांधनी नहीं आती.”
अपनी ताकत पर फोकस
इस पर एलन लिखते हैं कि बास्केटबॉल खेलने के दौरान उनके शॉट्स टीम में सबसे खराब होते थे, लेकिन उनका डिफेंस अच्छा था. तो कोच उन्हें डिफेंस के लिए और बेहतर कोचिंग देते थे. वो लिखते हैं कि इससे उन्हें समझ में आया कि हमें अपनी ताकत पर फोकस करना चाहिए और ये भी सीख मिली कि हर किसी में कोई न कोई कमी होती है. वो लिखते हैं, “मैंने वो किया जो मुझे आता था,मैंने ऑफ मार्केट घर लेने शुरू किए, जिन्हें उनके ओनर्स खुशी-खुशी बेच रहे थे, न कि वो घर जिन्हें हर कोई खरीदना चाह रहा था. एक डील से कई डील मिलते गए.”
उन चीज़ों पर समय लगाओ जो ज़रूरी है
एलन लिखते हैं,”मेरे कोच अपने बिजनेस में समय लगाकर और ज्यादा पैसे कमा सकते थे, पर उनके लिए बास्केटबॉल ज़रूरी था. तो वो अपना समय स्टूडेंट्स को बास्केटबॉल सिखाने में, उन्हें गेम में बेहतर बनाने में लगाते थे. उन्होंने बताया कि अपना समय ऐसी चीज़ों में लगाना चाहिए जो आपके लिए मैटर करती हैं. मैंने रियल एस्टेट पर फोकस किया और अपना बिजनेस बनाने पर ध्यान दिया, ताकि मुझे हफ्ते के 40 घंटे ऑफिस में न बिताना पड़े. अब मेरा पोर्टफोलियो प्रॉपर्टी मैनेजर्स हैंडल करते हैं और मेरे पास अपने लिए खूब सारा समय होता है.”
लालच बुरी बला है
अमीर बनने के लिए लालची होना ज़रूरी नहीं है. एलन लिखते हैं कि उनके कोच बिज़ी रहते थे, फिर भी स्टूडेंट्स को पूरा टाइम और अटेंशन देते थे. एलन कहते हैं कि वो होम ओनर्स को समय-समय पर एडवाइस देते रहते हैं, उनसे कनेक्ट करते हैं, क्योंकि इससे उन्हें संतुष्टि और खुशी मिलती है. इसके चलते उन्हें काफी रिफरल मिलती है और कई ऐसी डील्स भी मिल जाती हैं जो मार्केट में कहीं नहीं होती है. जो लोग असल में अमीर होते हैं वो बिना किसी उम्मीद के लोगों की मदद करते हैं.
किसी भी चीज़ से ज्यादा ज़रूरी एफर्ट है
एलन ने लिखा है कि उनके कोच हमेशा परफेक्शन से ज्यादा हार्ड वर्क को वैल्यू करते थे. कोशिश करने वालों की असफलता पर भी उनका उत्साह बढ़ाते थे. एलन लिखते हैं, “मुझे लगता है कि वो अपना बिजनेस भी ऐसे ही चलाते होंगे.कोशिश कर-करके ही आप बिजनेस में ऊपर पहुंचते हैं, कोई शॉर्टकट नहीं होता है. मेरी छवि ऐसी बन गई है कि मैं कोई भी जुगाड़ लगाकर अपने क्लाइंट्स की मदद करूंगी. मेरा फोकस कोशिशों पर रहता है, भले ही सफलता मिले या न मिले.”

बता दें कि 22 की उम्र में घर से निकले एलन कोरे 28 की उम्र में यानी केवल छह साल में मिलियनेयर बन चुके थे. अब तक उनकी तीन किताबें छप चुकी हैं और वो कई अमेरिकी टीवी शोज़ में बतौर गेस्ट नज़र आ चुके हैं.