Money Making Tips Business Idea : 1 एकड़ के खेत में 5 एकड़ की फसल मालामाल कर देगा खेती का यह जुगाड़ लोग किसान नहीं-कमाल कहेंगे.

Money Making Tips Business Idea : मौजूदा समय में देश के कई किसान नई तकनीक का इस्तेमाल करके खेती से शानदार पैसा कमा रहे हैं. किसानों ने इस तरह के कई नए-नए प्रयोग करके कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने में सफलता प्राप्त की है. आधुनिक खेती की मदद से कई किसान लाखों रुपये की कमाई कर रहे हैं. अब किसान एक ऐसी तकनीक अपना रहे हैं, जिसमें एक ही जगह पर चार फसलों की खेती की जाती है. इस तकनीक को मल्टीलेयर फार्मिंग कहते हैं.

मल्टीलेयर फार्मिंग की मदद से आप छोटी सी जगह पर ज्यादा मात्रा में पैदावार ले सकते हैं. इसमें आप एक ही जगह पर कई फसलें उगा सकते हैं. इससे कम जमीन वाले किसानों को ज्यादा फायदा मिल सकता है. आइए जानते हैं कि आप मल्टीलेयर फार्मिंग कैसे कर सकते हैं.

एक ही जगह पर होती है चार फसलों की खेती
देश में कृषि योग्य उपजाऊ जमीन की कमी और कृषि उत्पादों की भारी डिमांड को देखते हुए मल्टीलेयर फार्मिंग तकनीक विकसित की गई है. जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है कि मल्टीलेयर फार्मिंग खेती की ऐसी तकनीक है, जिसमें एक ही जगह पर एक ही समय में कई तरह की खेती की जाती है. इसके लिए आपको पहले ऐसी फसल को बोना चाहिए जो जमीन के अंदर उगती है. उसके बाद ऐसी फसलें बोई जाती हैं जो जमीन के कम ऊपर तक आएं, फिर और अधिक ऊंची फसलें बोई जाती हैं.
खेती की लागत में आती है कमी
इस तकनीक से खेती करने पर खेती की कुल लागत काफ़ी हद तक कम की जा सकती है. इससे पानी की खपत भी काफ़ी कम हो जाती है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस खेती में 70 फीसदी तक पानी की बचत होती है. इसमें आप एक जगह पर जितनी फसलों की खेती करते हैं, उन सभी के लिए अलग-अलग सिंचाई की जरूरत नहीं पड़ती है. आप एक ही बार में सभी फसलों को पानी दे सकते हैं. वहीं, इस कृषि में उतनी ही खाद डालनी पड़ती है जितनी एक फसल के लिए जरूरी होती है. अन्य फसलों को पोषक तत्व फसलों से एक-दूसरे को आपस में ही मिल जाते हैं.
कई गुना तक बढ़ जाता है उत्पादन और मुनाफा
मल्टीलेयर फार्मिंग उन छोटे और मध्यमवर्गीय किसानों के लिए बेहद फायदेमंद है, जिनके पास खेती के लिए जमीन कम होती है. वो एक साथ कई अलग-अलग फसलों की खेती एक ही जगह पर कर सकते हैं. इस तकनीक की मदद से खेती की लागत कम हो जाती है. वहीं, पैदावार और मुनाफा कई गुना तक बढ़ जाता है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस तकनीक से खेती करने पर अगर किसी जमीन पर एक लाख रुपये की लागत आती है तो किसान आराम से 5 लाख रुपये तक मुनाफ़ा कमा सकता है.