Multi Upi Ids : एक से ज्यादा UPI-ID का करते हैं इस्तेमाल जानिए क्या हैं इसके नुकसान.

Multi Upi Ids : डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए यूपीआई (UPI) का काफी योगदान है। यूपीआई पेमेंट काफी सिक्योर है। अब छोटे से लेकर बड़ी राशि के पेमेंट के लिए यूपीआई का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में कई लोग एक से ज्यादा यूपीआई आईडी के जरिये पेमेंट करते हैं। ऐसे में कई लोगों के मन में सवाल आता है कि आखिर क्या एक से ज्यादा यूपीआई आईडी सिक्योर है या फिर नहीं।
यूपीआई ट्रांजेक्शन क्या है
देश में यूपीआई पहला कैशलेस ट्रांजेक्शन है। इसका मतलब है कि यूपीआई के जरिये आसानी से बिना कैश के ऑनलाइन पेमेंट किया जा सकता है। आप अपने स्मार्ट फोन या फिर फीचर फोन से भी आसानी से यूपीआई पेमेंट कर सकते हैं। यह ऑनलाइन पेमेंट के साथ-साथ एक बैंक से दूसरे बैंक में ट्रांजेक्शन करने में भी काफी मदद करता है।
यूपीआई पेमेंट के लिए आपको बैंक की डिटेल्स के साथ यूपीआई पिन की आवश्यकता होती है। इसकी मदद से आप चंद मिनटों में यूपीआई पेमेंट कर सकते हैं। यूपीआई पेमेंट के लिए आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर और मोबाइल नंबर दर्ज करना होता है।
एक से ज्यादा यूपीआई आईडी के फायदे
कई लोग एक से ज्यादा यूपीआई आईडी से पेमेंट करते हैं। इसका मतलब है कि वह पेटीएम (Paytm), गूगलपे (Google Pay), फोनपे (PhonePe) सबसे भुगतान करते हैं। इन सबसे पेमेंट करने के लिए वह अलग यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में अलग यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करने से फायदा यह होता है कि अगर कभी कोई एक ऐप काम नहीं करता है तो आप दूसरे ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके अलावा अगर आपको कोई ऐप पर ज्यादा रिवॉर्ड या फिर कैशबैक का लाभ मिलता है तो आप उस ऐप से पेमेंट कर सकते हैं। उदाहरण के लिए अगर बिजली के बिल की पेमेंट के लिए फोनपे से ज्यादा गूगलपे पर कैशबैक का लाभ मिलता है तो आप गूगलपे से पेमेंट कर सकते हैं।

यह भी पढ़े   DA Hike : सरकार का बड़ा ऐलान ! सरकारी कर्मियों का 4 % बढ़ा डीए, अब इतना बढ़ कर आएगी सैलरी.
एक से ज्यादा यूपीआई आईडी के नुकसान
हर यूपीआई ऐप के अपने प्रोटोकॉल होते हैं। ऐसे में अगर आप एक से ज्यादा यूपीआई आईडी का इस्तेमाल करते हैं तो सिक्योरिटी सिस्टम में किसी लूपहोल का फायदा उठाकर हैकर्स ऐप से डेटा चोरी कर सकते हैं। ऐसे में आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। वहीं, दूसरी तरफ अलग यूपीआई आईडी को लेकर
कंफ्यूजन भी बढ़ सकता है। ऐसे में यह कैशफ्लो को भी प्रभावित कर सकता है।
आपको हमेशा ऑनलाइन पेमेंट के लिए अपने ऐप को अपडेट रखना चाहिए। अगर आप किसी ऐप को अपडेट नहीं करते हैं तो साइबर फ्रॉड का खबरा बढ़ सकता है।