Poultry farming new rule :पॉल्ट्री फार्म के लिए नई गाइडलाइन, सड़क से दूरी और सर्टिफिकेट जरूरी, मुर्गी पालन के लिए सख्त हुए नियम

पांच हजार या इससे अधिक के कुक्कुट की (मुर्गी) पालन के लिए प्रदूषण प्रमाणपत्र लिया जाना अनिवार्य है। बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद की गाइडलाइन जारी किया है। इसके अलावा, मुर्गी पालन के 125 मीटर की परिधि में आबादी नहीं होनी चाहिए।

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद की गाइडलाइन के अनुसार, किसी आवासीय क्षेत्र से कम से कम 500 मीटर की दूरी पर कोई पॉल्‍ट्री फार्म नहीं होगा। यानी 125 मीटर की परिधि में आबादी शून्य होनी चाहिए।

इसके अलावा वृहद जलस्त्रोत से इसकी दूरी कम से कम 100 मीटर होनी चाहिए। एनएच से सौ, एसएच से 50 व ग्रामीण सड़क से कम से कम 10 मीटर की दूरी अनिवार्य है। पॉल्‍ट्री फार्म के शेड से चहारदीवारी की भी 10 मीटर दूरी होनी चाहिए।

ग्रामीण इलाके में धड़ल्ले से आबादी बाहुल्य इलाके में बड़े पैमाने पर मुर्गी पालन किया जा रहा है। प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी ने कहा कि पॉल्‍ट्री फार्म का भौतिक सत्यापन कर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़े   ITR News : टैक्सपेयर्स के लिए गुड न्यूज 4 साल से अटका इनकम टैक्स रिफंड जनवरी तक मिलेगा.