zomato-and-swiggy : Zomato और Swiggy को बड़ा झटका मिला 750 करोड़ का जीएसटी नोटिस रिपोर्ट.

zomato-and-swiggy : देश की बड़ी फूड डिलीवरी कंपनियों जोमैटो और स्विगी को संयुक्त रूप से 750 करोड़ रुपये का जीएसटी नोटिस मिला है। इस नोटिस के पीछे की वजह टैक्स स्कूटनी को माना जा रहा है, जिसके चलते जीएसटी डिपार्टमेंट ने दोनों कंपनियों की नोटिस थमा दिया है।

सीएनबीसी टीवी18 की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि दोनों कंपनियों को जीएसटी विभाग की ओर से अलग-अलग नोटिस दिए गए हैं। फूड डिलीवरी मार्केट में सबसे ज्यादा हिस्सा रखने वाली जोमैटो को जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय (DGGI) की ओर से 400 करोड़ रुपये से अधिक का जीएसटी नोटिस दिया गया है।

वहीं, स्विगी को डीजीजीआई द्वारा 350 करोड़ रुपये से अधिक का जीएसटी नोटिस थमाया गया है। हालांकि, दोनों कंपनियों द्वारा इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

डिलीवरी फीस को लेकर मिला नोटिस
रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, जीएसटी विभाग की ओर से ये नोटिस डिलीवरी फीस को लेकर भेजा गया। सरकारी एजेंसी का कहना है कि डिलीवरी एक सर्विस है। इस वजह से दोनों कंपनियों को इस पर टैक्स का भुगतान करना होगा। ये नोटिस जुलाई 2017 से लेकर मार्च 2023 तक की अवधि के टैक्स के लिए है। दोनों कंपनियों की ओर से फिलहाल इसे लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।
बता दें, जोमैटो और स्विगी की फूड डिलीवरी कंपनियां हैं। जोमैटो एक लिस्टेड कंपनी है। इसका शेयर बुधवार के सत्र में एक प्रतिशत की गिरावट के साथ 115.25 रुपये पर बंद हुआ था। सितंबर में जोमैटो ने 36 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया था। इस दौरान कंपनी ने 2,848 करोड़ रुपये का रेवेन्यू दर्ज किया था। वहीं, स्विगी एक अनलिस्टेड कंपनी है। मई में श्रीहर्षा की ओर से किए गए एक ब्लॉग पोस्ट में बताया गया था कि कंपनी मार्च 2023 की तिमाही में मुनाफे में आ गई है।