Campus Placement 2023 : आईआईटी बॉम्बे में इंजीनियरिंग छात्रों को सर्वाधिक 3.7 करोड़ रुपए का सैलरी पैकेज.

Campus Placement 2023 : आईआईटी बॉम्बे की ओर चलाए जा रहे वार्षिक प्लेसमेंट में इस साल नया रिकॉर्ड बना है। संस्थान ने इस साल सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय और घरेलू सैलरी पैकेज रिकॉर्ड किया है। आईआईटी के छात्रों को इस साल अधिकतक अंतरराष्ट्रीय वार्षिक पैकेज 3.7 करोड़ रुपए ऑफर हुआ है, वहीं घरेलू वार्षिक पैकेज की बात करें तो यह 1.7 करोड़ रुपए तक पहुंचा है। पिछले वर्ष के प्लेसमेंट से तुलना करें तो पिछली बार अंतरराष्ट्रीय प्लेसमेंट में अधिकतम पैकेज 2.1 करोड रुपए ही था। हालांकि पिछले साल घरेलू प्लेसमेंट का अधिकम पैकेज 1.8 करोड़ रुपए था जो कि इस बार से ज्यादा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इस बार इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी सेक्टर के संस्थानों ने सबसे ज्यादा संख्या में छात्रों की भर्ती की है। साथ ही इन कंपनियों ने पिछले वर्ष की तुलना में अधिकतम सैलरी पैकेज भी दिया है। हालांकि आई/सॉफ्टवेयर से जुड़े छात्रों की हायरिंग पिछले वर्ष की तुलना में कम हुई है। आईआईटी बॉम्बे के प्लेसमेंट अभियान में इस साल छात्रों को औसतन सैलरी पैकेज 21.8 लाख रुपए वार्षिक (CTC) के हिसाब से ऑफर हुआ है जोकि पिछले साल की तुलना में अधिक रहा है। साल 2021-22 और 2020-21 में यह ऑफर क्रमश: 21.5 लाख और 17.9 लाख रुपए रहा।

आईआईटी बॉम्बे में इस साल 16 छात्रों को 1 करोड़ रुपए से अधिक के ऑफिर मिले हैं। कुल प्री प्लेसमेंट ऑफर 300 हुए हैं जिनमें से 194 ऑफर एसेप्ट किए गए हैं। इनमें कुल 65 अंतरराष्ट्रीय ऑफर भी शामिल हैं।

इस साल अंतरराष्ट्रीय ऑफर देने वाली कंपनियों में अमेरिका, जापान, यूके, नीदरलैंड्स, हांगकांग और ताइवान की कंपनियां प्रमुख रूप से थीं। प्लेसमेंट कार्यालय ने बताया कि इस साल अंतरराष्ट्रीय ऑफरों की संख्या पिछले साल के बराबर रही।

यह भी पढ़े   BIhar Police Recruitment : 75 हजार पुलिसकर्मियों की बहाली, बिहार में शरू हुई 75 हजार पुलिसकर्मियों की बहाली.

आईआईटी का प्लेसमेंट अभियान दो चरणों में चलता है। पहले चरण की प्लेसमेंट प्रक्रिया दिसंबर-जनवरी में होती है और दूसरे चरण की प्लेसमेंट प्रक्रिया जून-जुलाई 2023 में पूरी होती है।

प्लेसमेंट कार्यालय ने यह भी बताया कि प्लेसमेंट ड्राइव में भाग लेने वाले बीटेक, डुअल डिग्री और एमटेक प्रोग्राम के 90 फीसदी छात्रों को नौकरी मिली है। कुल 1845 छात्रों में 1516 छात्रों यानी कुल 82 फीसदी छात्रों को इस साल नौकरी मिली है।