India-Canada Standoff : ‘जम्मू-कश्मीर जाने से बचें’ कनाडा ने भारत के लिए जारी की नई ट्रैवल एडवाइजरी.

India-Canada Standoff  : खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर (Hardeep Singh Nijjar killing row) की हत्या मामले पर भारत और कनाडा द्वारा वरिष्ठ राजनयिकों के निष्कासन से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध बेहद खराब हो गए हैं। इस बीच, कनाडाई सरकार ने एक ट्रैवल एडवाइजरी जारी की है। ट्रैवल एडवाइजरी में कनाडा ने अपने नागरिकों के लिए जम्मू और कश्मीर की यात्रा करने से बचने की सलाह दी है। कनाडा सरकार ने भारत के लिए अपनी नई ट्रैवल एडवाइजरी में कहा, “अप्रत्याशित सुरक्षा स्थिति के कारण केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर की यात्रा करने से बचें।”

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, एडवाइजरी में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद, उग्रवाद, नागरिक अशांति और अपहरण का खतरा है। इस एडवाइजरी में केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख का जिक्र नहीं है। एडवाइजरी में लिखा गया कि जम्मू और कश्मीर की सभी यात्राओं से बचा जाए। इसमें कहा गया है कि जम्मू और कश्मीर के कई इलाकों में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच हिंसक झड़पें जारी हैं और ऐसे में सावधानी ना बरतकर आप खुद को गलत जगह पा सकते हैं।

ट्रैवल एडवाइजरी में कनाडा ने मणिपुर की यात्रा को लेकर भी अपने नागरिकों को चेतावनी दी है। एडवाइजरी में कहा गया कि असम और मणिपुर में कई चरमपंथी और विद्रोही ग्रुप एक्टिव हैं जो स्थानीय सरकार और सुरक्षा बलों को निशाना बना रहे हैं।

कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो ने मंगलवार को कहा था कि ओटावा चाहता है कि नई दिल्ली इस मुद्दे को ठीक से हैंडल करे, जिसके बाद एडवाइजरी को अपडेट किया गया। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि उनका देश किसी भी तरह से भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहा है।

यह भी पढ़े   India Most Intelligent Boy : महज 7 साल की उम्र में बना सर्जन 12 में पास किया B.Sc, अब IIT में कर रहा रिसर्च जानें कौन है ये जीनियस.

सोमवार को पीएम ट्रूडो ने संसद में ये आशंका जताई थी कि शायद हरदीप सिंह निज्जर की इस साल जून में हुई हत्या में भारत की भूमिका थी। इसके बाद कनाडा ने भारत के शीर्ष राजनयिक को निष्कासित कर दिया। वहीं, दूसरी तरफ जवाबी कार्रवाई में भारत ने भी कनाडा के शीर्ष राजनयिक को पांच दिनों के अंदर नई दिल्ली छोड़ने का आदेश दिया है।