Maharashtra Government Name Of Aurangabad : महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला बदला औरंगाबाद और उस्मानाबाद जिले का नाम.

Maharashtra Government Name Of Aurangabad : महाराष्ट्र सरकार ने रविवार को एक बड़ा ऐलान किया है। महाराष्ट्र सरकार ने रविवार को औरंगाबाद और उस्मानाबाद जिलों का नाम बदलने का ऐलान किया है। अब महाराष्ट्र के मराठवाड़ा इलाके में आने वाले इन दोनों ही जिलों को एक नए नाम से जाना जाएगा। आधिकारिक तौर पर अब औरंगाबाद को छत्रपति संभाजीनगर और उस्मानाबाद धाराशिव के नए नाम से जाना जाएगा। महाराष्ट्र सरकार ने इन दोनों ही नामों को बदलने के लिए एक अधिसूचना भी जारी कर दी है। महाराष्ट्र सरकार ने औरंगाबाद और उस्मानाबाद राजस्व प्रभागों का नाम बदलकर छत्रपति संभाजीनगर और धाराशिव राजस्व प्रभाग करने के लिए एक अधिसूचना जारी की है।
मराठवाड़ा क्षेत्र का हिस्सा हैं दोनों ही जिले

औरंगाबाद और उस्मानाबाद राजस्व प्रभाग महाराष्ट्र के मराठलाड़ा इलाके के हिस्से में आते हैं। राजस्व विभाग द्वारा शुक्रवार रात जारी अधिसूचना में कहा गया है कि कुछ महीने पहले मांगे गए सुझावों और आपत्तियों पर विचार करने के बाद उप-मंडल, गांव, तालुका और जिला स्तरों पर नाम सरकार की तरफ से नाम बदलने का फैसला किया गया है। औरंगाबाद और उस्मानाबाद का नाम बदलने का निर्णय पिछली महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार की 29 जून, 2022 को तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में उनके इस्तीफे से ठीक पहले हुई आखिरी कैबिनेट बैठक में लिया गया था।

पिछले साल मिली थी नाम बदलने के फैसले को कैबिनेट की मंजूरी

पिछले साल जुलाई में, एकनाथ शिंदे सरकार ने औरंगाबाद जिले का नाम बदल कर संभाजीनगर उस्मानाबाद जिले का नाम बदल कर धाराशिव करने की कैबिनेट को मंजूरी दे दी थी। वहीं इसी साल फरवरी में केंद्र सरकार ने दोनों जिलों का नाम बदलने के फैसले को अपनी मंजूरी दी थी। गृह मंत्रालय ने माहाराष्ट्र सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार को महाराष्ट्र के दोनों जिलों के नाम बदलने पर कोई आपत्ति नहीं है। माहाराष्ट्र सरकार के इस नए ऐलान के बाद औरंगाबाद को छत्रपति संभाजीनगर और उस्मानाबाद को धाराशिव के नाम से जाना जाएगा।