Private School Fees Hike : नए सत्र में स्कूलों की फीस में बढ़ोतरी! पेरेंट्स को बड़ा झटका.

प्राइवेट स्कूलों की फीस इस बार नए सेशन से एक बार फिर बढ़ने वाली है जिससे पेरेंट्स को काफी बड़ा झटका लगने वाला है। शिक्षा निदेशालय ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि बिना मंजूरी के फीस बढ़ाने की शिकायत मिलने पर इसे गंभीरता से लिया जा सकता है। दिल्ली में अप्रैल से स्कूलों में नए सत्र शुरू होने वाले हैं। अभिभावकों को फीस इस दौरान अभिभावकों को इसका बढ़ती स्कूल फीस का झटका लग सकता है। नए सत्र 2023 से 2024 में स्कूलों में फीस बढ़ोतरी हो सकती है। दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय ने सरकारी एजेंसी से आवंटित जमीन पर बने स्कूलों से शैक्षिक सत्र 2023 से 24 में फीस बढ़ाने के लिए प्रस्ताव मांगे हैं।

स्कूलों को ऑनलाइन मॉडल के माध्यम से फीस बनाने के लिए प्रस्ताव जरूरी दस्तावेजों व रिकॉर्ड के साथ मार्च से 27 मार्च तक भेजने का वक्त दिया गया है। शिक्षा निदेशालय के उप शिक्षा निदेशक जयप्रकाश की ओर से फीस संबंधी प्रस्ताव भेजने के लिए निजी स्कूलों को एक नया आदेश जारी किया गया है। इसमें स्पष्ट किया गया है कि स्कूल की ओर से मैनुअल रूप से प्रस्तुत किए गए प्रस्ताव पर विचार नहीं किया जाएगा। प्रस्ताव नहीं भेजने वाले स्कूलों को फीस बढ़ोतरी की अनुमति भी नहीं मिलेगी। शिक्षा निदेशक द्वारा इस नियमित प्राधिकृत किसी अधिकारी या दल के माध्यम से स्कूलों द्वारा प्रस्तुत प्रस्ताव की जांच की जा सकती है। प्रस्ताव के सही और जरूरी पाए जाने पर फीस बढ़ोतरी की अनुमति मिल जाएगी।

बिना अनुमति फीस में बढ़ोतरी नहीं कर सकते स्कूल

स्कूलों को जारी आदेश में कहा गया है कि जब तक उनके प्रस्ताव पर शिक्षा निदेशक द्वारा स्वीकृति नहीं दी जाती है, तब तक कोई भी फीस वृद्धि न करें। यदि स्कूल फीस बढ़ोतरी का प्रस्ताव प्रस्तुत नहीं करता, तो वह शैक्षणिक सत्र 2023-24 के लिए अपनी फीस में वृद्धि नहीं करेगा।

यह भी पढ़े   Private Medical College : प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में अब सरकारी फीस पर होगी पढ़ाई! सरकार ने कर दिया बड़ा ऐलान.

बिना मंजूरी फीस बढ़ाई तो कार्रवाई

शिक्षा निदेशालय ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि बिना मंजूरी के फीस बढ़ाने की शिकायत मिलने पर इसे गंभीरता से लिया जाएगा। ऐसे में स्कूल के खिलाफ अदालत के निर्देशों के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। साथ ही डीडीए से आग्रह कर स्कूल सोसायटी की लीज डीड भी रद की जा सकती है।

नर्सरी, केजी व पहली कक्षा की फीस पहले ही बढ़ी

स्कूलों का शैक्षणिक सत्र शुरू होने पर कई स्कूलों ने पहले ही फीस में बढ़ोतरी कर दी है। यह बढ़ोतरी 10 से 15 फीसदी तक की है। नर्सरी, केजी व पहली कक्षा में दाखिले हो चुके हैं। अभिभावकों का आरोप है कि स्कूलों ने इन छोटी कक्षाओं के लिए भी मोटी फीस वसूली है। जबकि सत्र अभी अप्रैल में शुरू होना है।