Old Pension Scheme : पुरानी पेंशन स्कीम वाले राज्यों को फंड की रकम देने से किया इंकार.

देशभर में देशभर के विभिन्न राज्य सरकारों ने पुरानी पेंशन योजना को लागू कर दिया है। इसके बाद अब केंद्रीय कर्मचारी भी पुरानी पेंशन योजना लागू करने की मांग कर रहे हैं।

इसी बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पुरानी पेंशन योजना लागू करने वाले राज्य को बड़ा झटका दे दिया है। वित्त मंत्री ने नई पेंशन योजना के लिए अलग रखे गए पैसों को राज्य सरकारों को पुरानी पेंशन योजना के लिए देना से इनकार कर दिया है।

वित्त मंत्री ने कहा कि अगर कोई राज्य किसी वजह से पुरानी पेंशन योजना लागू करने का फैसला लेता है तो उसे एनपीएस के फंड केंद्र से लिया जा सकता है तो या उपलब्ध नहीं होगा।

राजस्थान में हाल ही में अपने राज्य कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना की घोषणा की थी। कांग्रेस सरकार ने हिमाचल प्रदेश में भी पुरानी पेंशन योजना घोषणा की है। वित्त मंत्री की ताजा घोषणा से पुरानी पेंशन योजना को बड़ा झटका लगेगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि यह कर्मचारी का पैसा है और या पैसा सेवानिवृत्ति के समय या जब भी कर्मचारी को इसकी जरूरत होगी कर्मचारी के हाथ में आएगा।

निर्मला सीतारामन ने सोमवार को जयपुर में एक होटल में बजट पर चर्चा के बाद मीडिया से बातचीत में कहा, “इकट्ठा किया गया पैसा राज्य सरकार के हाथ नहीं आएगा। सही समय आने पर ही यह पैसा कर्मचारी को दिया जाएगा।

“राजस्थान सरकार द्वारा चलाई जा रही मुफ्त योजनाओं पर सीतारामन ने कहा, “जब सरकार की वित्तीय स्थिति अच्छी होती है, तो (आप) ऐसी योजनाएं चलाते हैं। अपने बजट में उनके लिए प्रावधान करें। यदि आपके राज्य की वित्तीय स्थिति अच्छी नहीं है, आप बजट में प्रावधान नहीं कर रहे हैं, आप उसके लिए कर्ज ले रहे हैं, तब यह सही नहीं है। यह पैसा कौन देगा? इसलिए वित्त सचिव ने कहा कि मुफ्त में भोजन नहीं होता। “