PACL Chit Fund Refund : पर्ल्स के निवेशकों का रिफंड शुरू, यहाँ जमा करें अपना आवेदन.

अगर आपने भी पर्ल्स या पीएसीएल इंडिया लिमिटेड में अपना पैसा इन्वेस्ट किया हुआ है तो आपके लिए नई अपडेट सामने आ गई है. पर्ल्स के निदेशकों के लिए बड़ी खबर यह है कि अपनी पैसा को को 17000 रुपये तक का रिफंड मिलेगा. सेबी की एक कमेटी ने पीएसीएल ग्रुप की योजना में निवेश करने वाले लोग 17000 तक का रिफंड लेने के दावों के लिए 20 मार्च तक ओरिजिनल डॉक्यूमेंट जमा करने का आदेश जारी किया है.

पीएसीएल न‍िवेशकों को सेबी (SEBI) की तरफ से गठित कमेटी ने ऐसे निवेशकों को ओरिजिनल डॉक्यूमेंट्स पेश करने के ल‍िए कहा है जिनके आवेदन पत्रों का सफलतापूर्वक वेरिफिकेशन हो गया है. सेबी की तरफ से इस समि‍त‍ि का गठन साल 2016 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद क‍िया गया था. पूर्व मुख्य न्यायाधीश आरएम लोढ़ा की अध्यक्षता वाली यह कमेटी निवेशकों की पात्रता की पुष्टि करने के बाद उन्हें पैसे लौटाने के लिए एसेट्स के निपटान की प्रक्रिया की देखरेख कर रही है.

पीएसीएल न‍िवेशकों के ल‍िए रिफंड प्रोसेस को चरणबद्ध ढंग से शुरू कर द‍िया गया है. सेबी की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार कमेटी ने 15,001 रुपये से लेकर 17,000 रुपये तक के दावों वाले ऐसे पात्र निवेशकों को वास्तविक पीएसीएल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट लाने के लिए कहा है, जिनके आवेदनों का सफलतापूर्वक वेरिफिकेशन हो चुका है. इससे पहले सेबी ने न‍िवेशकों के 15000 रुपये तक के क्लेम को रिफंड देने की मंजूरी दी थी.

कब से मिलने शुरू हुआ रिफंड?

आपको बता दें PACL निवेशकों के लिए रिफंड की प्रक्रिया जनवरी 2020 में शुरू हुई थी. इस प्रक्र‍िया के तहत पहले 5,000 रुपये तक के दावों का न‍िपटारा क‍िया गया. इसके बाद जनवरी-मार्च 2021 तक 10 हजार रुपये तक के क्‍लेम वाले आवेदन स्वीकार किए गए. उसके बाद 2022 में सेबी ने अप्रैल से 10001 रुपये से लेकर 15000 रुपये तक के रिफंड वाले आवेदन मंगाए थे. अब 17000 रुपये तक के दावों का रिफंड देने का प्रोसेस शुरू हुआ है.