Delhi University NCWEB First Cutoff : जल्द खत्म होगा NCWEB में दाखिले का इंतजार पहली कट ऑफ 16 अगस्त को होगी जारी डीयू ने किया शेड्यूल जारी.

Delhi University NCWEB First Cutoff  : दिल्ली यूनिवर्सिटी (डीयू) के नॉन कॉलिजिएट वुमंस एजुकेशन बोर्ड (NCWEB) की पहली कटऑफ लिस्ट 16 अगस्त को जारी होगी। इसके आधार पर 17 अगस्त से 19 अगस्त तक स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकेंगे। कॉलेज स्टूडेंट्स के डॉक्युमेंट्स चेक करके 20 अगस्त तक एडमिशन के लिए मंजूरी देंगे। 21 अगस्त को फीस जमा कराने का अंतिम दिन है। रेगुलर कॉलेजों में यूजी कोर्सेज के लिए डीयू कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के स्कोर के आधार पर दाखिले कर रही है मगर एनसीवेब में कटऑफ यानी 12वीं क्लास के स्कोर के आधार पर दाखिले होंगे। एनसीवेब में करीब 15230 सीटें हैं। दाखिले पूरी तरह से ऑनलाइन होंगे। इसके सेंटर डीयू के 26 कॉलेजों में हैं। इनमें बीए और बीकॉम कोर्स के लिए दिल्ली की लड़कियों का ही एडमिशन होता है। क्लासेज शनिवार या इतवार को चलती हैं। बोर्ड ने पांच कटऑफ, एक स्पेशल लिस्ट और एक स्पेशल ड्राइव रखेगा।

पहली कटऑफ 16 अगस्त को जारी होगी। 23 अगस्त को दूसरी कटऑफ जारी की जाएगी जिसके आधार पर 24 से 28 अगस्त तक एडमिशन प्रक्रिया चलेगी। तीसरी कटऑफ 30 अगस्त को निकाली जाएगी, इस पर स्टूडेंट्स 31 अगस्त से 3 सितंबर तक एडमिशन ले सकेंगे। इसके बाद बोर्ड एक स्पेशल कटऑफ जारी करेगा, जिसके लिए 7 से 9 सितंबर तक एडमिशन होंगे। चौथी एडमिशन लिस्ट 12 सितंबर को जारी होगी और 16 सितंबर तक यह राउंड चलेगा। पांचवीं लिस्ट 19 सितंबर को निकाली जाएगी और 23 तक दाखिले होंगे। अगर इसके बाद भी सीटें खाली रहीं, तो 26 सितंबर से 29 सितंबर तक इन्हें स्पेशल ड्राइव के तहत भरा जाएगा।

यह भी पढ़े   Aaj Ka Rashifal 09 Nov 2023 : बुलेट ट्रेन की तरह दौड़ेगा कारोबार इन 3 राशियों का चमकेगा भाग्य, पढ़ें आज का राशिफल.
डीयू में आज दूसरा राउंड होगा शुरू, सीटें होंगी अलॉट
दिल्ली यूनिवर्सिटी में अंडरग्रैजुएट कोर्सों के लिए आज दूसरे राउंड के लिए सीटें अलॉट की जाएंगी। 62008 स्टूडेंट्स ने एडमिशन ले लिया है और अब करीब 9 हजार सीटों के लिए एडमिशन होंगे। पहले राउंड में 12733 स्टूडेंट्स ने सीट फ्रीज कर ली है और 40701 स्टूडेंट्स ने अपग्रेड का ऑप्शन भरा है, यानी वो कोर्स/कॉलेज बदलना चाहते हैं। एसआरसीसी, मिरांडा हाउस, लेडी श्रीराम कॉलेज, हिंदू कॉलेज, रामजस कॉलेज, दयाल सिंह कॉलेज, किरोड़ीमल कॉलेज समेत कुछ कॉलेजों के कई कोर्सों में लगभग सभी सीटें भर चुकी हैं। हालांकि, कॉलेजों का कहना है कि दूसरे राउंड में कई स्टूडेंट्स अपनी पसंद के दूसरे कॉलेज में शिफ्ट होंगे, ऐसे में कुछ सीटें फिर से खाली होंगी और उन पर वे स्टूडेंट्स एडमिशन लेंगे, जिन्हें अब तक कोई सीट नहीं मिली है। साथ ही, जो दूसरा कोर्स या कॉलेज चाहते हैं, वो भी बतौर ऊपर की चॉइस इन पर दाखिला लेंगे।दूसरे राउंड के लिए सीटें 10 अगस्त शाम 5 बजे अलॉट होंगी। इस राउंड में स्टूडेंट्स को ज्यादातर कॉलेजों में साइंस, बीए कॉम्बिनेशन, लैंग्वेज के कोर्सों में दाखिले का मौका मिलेगा।
डीयू में ट्राइबल स्टडी सेंटर शुरू
दिल्ली यूनिवर्सिटी में ट्राइबल स्टडी सेंटर (सीटीसी) बन चुका है। बुधवार को यूनिवर्सिटी में अंतरराष्ट्रीय आदिवासी दिवस पर इसकी घोषणा की गई। इस सेंटर के जरिए भारत की सभी जनजातियों पर अध्ययन किया जाएगा। इस सेंटर की गवर्निंग बॉडी बना दी गई है, इसका अध्यक्ष डीयू के साउथ कैंपस के डायरेक्टर प्रो. श्री प्रकाश सिंह को नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया, डीयू की कोशिश रहेगी कि भारत की हर जनजाति का गहन अध्ययन इस सेंटर में हो। एंथ्रोपोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड प्रो. सौमेंद्र मोहन पटनायक को इस सेंटर का हेड और एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अविटोली जी. झिमो को जॉइंट डायरेक्टर का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है। इसी विभाग से यह सेंटर चलेगा। बाद में इसे अलग जगह दी जाएगी। गवर्निंग बॉडी में कैंपस ऑफ ओपन लर्निंग की डायरेक्टर प्रो. पायल मागो, लॉ फैकल्टी से प्रो. के. रत्नाबली और भूगोल विभाग से प्रो. वी.एस. नेगी को सदस्य बनाया गया है। बाहरी विशेषज्ञों के तौर पर आंध्र प्रदेश सेंट्रल ट्राइबल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. टीवी कट्टीमनी और हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी के इंस्टिट्यूट ऑफ ट्राइबल स्टडीज के डायरेक्टर प्रो. चंद्रमोहन परशीरा से भी मार्गदर्शन लेता रहेगा।