UPI Payment : अब 100000 रुपये तक के UPI पेमेंट के लिए नहीं होगी OTP की जरूरत सरकार ने किया ऐलान

UPI Payment : रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने UPI पेमेंट पर छूट को बढ़ा दिया है। अब बिना किसी OTP के यूपीआई से कुछ पेमेंट कर पाएंगे। सरकार ने 1,00,000 रुपये तक की ऑटोडेबिट वाली UPI पेमेंट पर OTP की छूट दी है। यानी, अब इस तरह की पेमेंट बिना ओटीपी के हो जाएगी। RBI ने UPI ऑटो पेमेंट की सीमा बढ़ाने के प्रपोजल को मंजूरी दे दी है। इससे यूपीआई का इस्तेमाल कर ऑटो डेबिट करने वाले यूजर्स को थोड़ी राहत मिलेगी।
इन UPI ऑटोडेबिट ट्रांजेक्शन पर मिलेगी छूट

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आज कुछ UPI ऑटो डेबिट पेमेंट की लिमिट बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। नए बदलाव के बाद UPI ऑटो-पेमेंट किया जाता है तो एक्स्ट्रा फैक्टर ऑथेंटिकेशन (AFA) की जरूरत होती है। फिलहाल यह AFA तब लागू होता है जब 15,000 रुपये से अधिक का पैसा ऑटो डेबिट किया जाता है। इसके जरिये सिर्फ म्यूचुअल फंड सब्सक्रिप्शन, बीमा प्रीमियम सब्सक्रिप्शन और क्रेडिट कार्ड रीपेमेंट के लिए इस लिमिट को बढ़ाकर 1 लाख रुपये किया गया है।

UPI ऑटो पेमेंट सेट करने के फायदे

ऑटो डेबिट सेट करने से लेट फीस और पेनाल्टी से बच जाएंगे।

इसमें आप अपनी मर्जी से ऑटो डेबिट ऑप्शन को चुन सकते हैं। जैसेकि मंथली या क्वटर्ली आदि।

रेकरिंग पेमेंट करने का आसान तरीका है।

कैशलेस पेमेंट करने का बेस्ट तरीका है।

RBI बैठक में भी किये गए ये भी ऐलान

RBI ने यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (Unified Payment Interface(UPI) पेमेंट के लिए ट्रांजेक्शन लिमिट को 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया है। आरबीआई ने यह सर्विस अस्पतालों और एजुकेशलन इंस्टीट्यूट के पेमेंट पर लागू की है। आज RBI ने अपनी मॉनेटरी पॉलिसी का ऐलान किया। पॉलिसी की घोषणा करने के दौरान आरबीआई ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया। RBI ने ब्याज दरें 6.50% पर बरकरार रखीं हैं। आरबीआई ने कहा कि सभी सदस्य दरें न बदलने के पक्ष में थे।